News

यूक्रेन में भारतीय छात्रों का सुरक्षा कवच बना तिरंगा, रूसी सेना कर रही सम्मान

यूक्रेन में जहां हर ओर भयावह माहौल है, वहीं बड़ी संख्या में भारतीय छात्र भी वहां फंसे हैं। वहीं भारत की आन-बान और शान तिरंगा रूस और युक्रेन की जंग के बीच भारतीय छात्रों का सुरक्षा कवच बना है । तिरंगे को देखकर रूसी सेना के जवान सम्मान कर रहे हैं और छात्रों को हिफाजत के साथ उनकी मंजिल की ओर रवाना कर रहे हैं। भारतीय झंडे वालों को सुरक्षित निकालने में रूसी सेना भी मदद कर रही है। भारतीय झंडा लगा देख बसों को ससम्मान और बेरोकटोक जाने दिया जा रहा है।

भारत ने करीब 500 नागरिकों को निकाल लिया है। ‘ऑपरेशन गंगा’ के तहत पिछले 24 घंटों में भारतीय नागरिकों को लेकर कुल तीन उड़ानें भरी गईं। इनमें से दो उड़ानें दिल्‍ली उतर भी चुकी हैं। तिरंगे के साये में वह अपने वतन लौट रहे हैं।

‘ऑपरेशन गंगा’ के तहत रेस्‍क्‍यू मिशन को पोलैंड, रोमानिया, हंगरी और स्लोवाकिया में सक्रिय किया गया है। इन देशों में यूक्रेन के साथ सीमा पर विशेष शिविर लगाए गए हैं। विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने ‘ऑपरेशन गंगा’ के लिए पूर्ण समर्थन देने के लिए अपने हंगरी के समकक्ष को धन्यवाद दिया। जयशंकर ने कहा कि 240 भारतीय नागरिकों के साथ ऑपरेशन गंगा की तीसरी उड़ान ने बुडापेस्ट से दिल्ली के लिए उड़ान भरी है। बुडापेस्ट से दूसरी फ्लाइट शनिवार को 250 भारतीय नागरिकों को लेकर दिल्ली के लिए रवाना हुई। 219 भारतीय नागरिकों के साथ मुंबई के लिए रोमानिया से पहली उड़ान उड़ान भरी थी।

बता दें कि दूसरे देश की सीमा पर पहुंचे छात्रों ने बसों और अन्य वाहनों पर तिरंगा फहराया है। साथ ही बस और वाहन पर भारत सरकार के आदेश की प्रति भी चिपका दी गई है। तिरंगा देख वे रूसी सेना के जवान भी पूरे सम्मान के साथ बसों को उनके गंतव्य तक पहुंचा रहे हैं। भारत पहुंचे छात्र के मुताबिक तिरंगा झंडा देखकर बसों को बिना रॉक टॉक के पूरे सम्मान के साथ आगे जाने दिया जा रहा है।

वहीं इस संबंध में केंद्रीय मंत्री जी किशन रेड्डी ने समाचार एजेंसी एएनआई से बात करते हुए, कहा, “सरकार ने छात्रों को भारतीय ध्वज अपने साथ ले जाने के लिए कहा है क्योंकि रूस ने भारतीय छात्रों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं करने का वचन दिया है।’

यूक्रेन युद्ध के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रूस के राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन से बातचीत की थी और यूक्रेन में फंसे भारतीयों की सुरक्षा को लेकर चिंता जताई थी। इस पर रूस के राष्ट्रपति ने आश्वासन जताया था कि वे भारतीय की सुरक्षा के लिए पुख्ता कदम उठाएंगे। पुतिन ने कहा था कि यूक्रेन छोड़ने वाले भारतीयों की बस पर तिरंगा लगा होना ही उनकी सुरक्षा की बड़ी गारंटी है। पुतिन ने कहा था कि जिन गाड़ियों और बसों पर तिरंगा लगा होगा उनको रूसी सेना सुरक्षित बॉर्डर पर पहुंचाएगी और किसी को भी रोका नहीं जाएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button